ek imaarat meri bhi – part 1 – shuruat

थोड़ी  पुराणी बात है शहर में घुमते हुए कई इमारतें देखी कुछ नयी कुछ पुराणी, कुछ ऊँची कुछ नीची कईयों के बड़े बड़े मैदान भी और कहीं किसी एक में घड़ी भी लगी हुई थी उस दिन मन में आया…